Episode image

इन्द्र के पुत्र जयंत की कथा

Sutradhar Mini Tales (हिन्दी)

Episode   ·  114 Plays

Episode  ·  114 Plays  ·  1:43  ·  Jun 23, 2022

About

देवराज इन्द्र के पुत्र जयंत ने एक बार भगवान राम के दैवी होने की परीक्षा लेने की सोची और एक कौवे के रूप में माता सीता को तंग करने लगा। जयंत ने अपनी चोंच से माता सीता के पैर में प्रहार किया, जिससे उनके पैर से रक्त बहने लगा।  माता सीता का रक्त देखकर श्रीराम को अत्यंत क्रोध आया और उन्होंने एक घास के टुकड़े को अभिमंत्रित कर जयंत की ओर प्रहार किया। प्रभु श्रीराम की लीला से वह घास का टुकड़ा ब्रह्मास्त्र में बदल गया और जयंत के पीछे लग गया।  जयंत अपनी जान बचाने के लिए सभी देवताओं के पास गए, परंतु कोई भी जयंत को श्रीराम के ब्रह्मास्त्र से नहीं बचा पाया।  अंत में वह श्रीराम की शरण में गए और अपने जीवन की भिक्षा माँगी। श्रीराम ने जयंत के जीवन के बदले में ब्रह्मास्त्र से उनकी एक आँख ले ली। तभी से कहा जाता है कि कौवे काने होते हैं। 

1m 43s  ·  Jun 23, 2022

© 2022 Omny Studios (OG)