Tu Saajan Ka Pyar Hai Lyrics

Souten Ki Beti  by Anuradha Paudwal, Sadhana Sargam

Song   ·  367,255 Plays  ·  8:00  ·  Hindi

© 1989

Tu Saajan Ka Pyar Hai Lyrics

मैं तो बस पत्नी हूँ उन की, तू साजन का प्यार है
तू साजन का प्यार है
जितना मेरा हक़ है उन पर, तेरा भी अधिकार है
तू साजन का प्यार है

ना कोई मेरा हक़ है उन पर, ना कोई अधिकार है
तू ही सुहागन है साजन की, तू ही उनका प्यार है
तू ही उनका प्यार है

इस दहलीज़ को पार ना करना, वरना ग़ज़ब हो जाएगा
इस दहलीज़ को पार ना करना, वरना ग़ज़ब हो जाएगा
हरा-भरा ये घर बहना बिन आग लगे जल जाएगा

तू नहीं तुलसी इस आँगन की, तू तो तर की बहार है
तू साजन का प्यार है

पानी पर भूले से बनी और मिट गई वो तस्वीर, हो
पानी पर भूले से बनी और मिट गई वो तस्वीर, हो
मालिक भी लिख कर रोया, हाए, मैं ऐसी तक़दीर हूँ

मैं डाली से टूटी पाती, मेरा घर ना द्वार है
तू ही उनका प्यार है

माँ होकर भी बेटी को तुम माँ से जुदा करती है
माँ होकर भी बेटी को तुम माँ से जुदा करती है
फूल से बचपन की आँखों में क्यूँ सावन भरती है?

ये पूजा का फूल है, पगली, प्यार का उपहार है
तू साजन का प्यार है

लौट जा अपने घर तू, मुझे अँधियारों में खो जाने दे
लौट जा अपने घर तू, मुझे अँधियारों में खो जाने दे
मैं रस्ते की धूल हूँ, मुझ को रस्ते में रह जाने दे

काँटों से ख़ुशबू की चाहत करना तो बेकार है
तू ही उन का प्यार है

राम-राम कहना है अब तो...
राम-राम कहना है अब तो अंत में, लाडली बहना
राम-राम कहना है अब तो अंत में, लाडली बहना
जिस घर को मैं छोड़ चली हूँ, तुझे उसी में रहना

हाथ जोड़कर ये बिनती है, मत कहना इनकार है
तू साजन का प्यार है, तू साजन का प्यार है
तू साजन का प्यार है

Writer(s): Sawan Kumar<br>Lyrics powered by www.musixmatch.com

8m   ·  Hindi

© 1989