Pareshaan

This song is currently unavailable in your area. Why?

Pareshaan Lyrics

Pareshaan  by Lata Mangeshkar

Song  ·  17,015 Plays  ·  5:00  ·  Urdu

© 1998 IFFI Production

Pareshaan Lyrics

हाँ, तुझ से नाराज़ नहीं ज़िंदगी
हैरान हूँ मैं, हो, हैरान हूँ मैं
तेरे मासूम सवालों से
परेशान हूँ मैं, हो, परेशान हूँ मैं

तुझ से नाराज़ नहीं ज़िंदगी
हैरान हूँ मैं, हो, हैरान हूँ मैं

जीने के लिए सोचा ही नहीं
दर्द सँभालने होंगे
जीने के लिए सोचा ही नहीं
दर्द सँभालने होंगे
मुस्कराएँ तो मुस्कुराने के
कर्ज़ उतारने होंगे

मुस्कुराऊँ कभी तो लगता है
जैसे होंठों पे कर्ज़ रखा है

तुझ से नाराज़ नहीं ज़िंदगी
हैरान हूँ मैं, हो, हैरान हूँ मैं

तुझ से नाराज़ नहीं ज़िंदगी
हैरान हूँ मैं, हो, हैरान हूँ मैं
तेरे मासूम सवालों से
परेशान हूँ मैं, हो, परेशान हूँ मैं

आज अगर भर आई है
बूँदें, बरस जाएँगी
आज अगर भर आई है
बूँदें, बरस जाएँगी
कल क्या पता इन के लिए
आँखें तरस जाएँगी

जाने कब गुम हुआ, कहाँ खोया
एक आँसू छुपा के रखा था

तुझ से नाराज़ नहीं ज़िंदगी
हैरान हूँ मैं, हैरान हूँ मैं
तेरे मासूम सवालों से
परेशान हूँ मैं, हो, परेशान हूँ मैं
हो, परेशान हूँ मैं
हो, परेशान हूँ मैं

Writer(s): Naqash Haider<br>Lyrics powered by www.musixmatch.com


More from Pareshaan

Loading

You Might Like

Loading


5m   ·  Urdu

© 1998 IFFI Production

FAQs for Pareshaan