Hum Tum (From "Hum Tum") Lyrics - Flavours Of Romance-Valentine's Day Vol. 2 - Only on JioSaavn
What kind of music do you
want to listen to?

You have 5 of 5 Songs left.

Listen with no limits on the JioSaavn app.

I Have JioSaavn
  1. Hum Tum (From "Hum Tum")

    Flavours Of Romance-Valentine's Day Vol. 2

    5:30

    {"url":"ID2ieOjCrwfgWvL5sXl4B1ImC5QfbsDyuNz1mw23RUPs95hi94s93D2m05dqE82lw\/kgklp\/t3PhcRuRL4C6pBw7tS9a8Gtq","pid":"GrrIXsHI","length":"330"}
  2. Hum Tum (From "Hum Tum") Song Lyrics

    साँसों को साँसों में ढलने दो ज़रा

    साँसों को साँसों में ढलने दो ज़रा
    धीमी सी धड़कन को बढ़ने दो ज़रा
    लम्हों की गुज़ारिश है यह पास आ जाए
    हम हम तुम
    तुम हम तुम

    आँखों में हुमको उतरने दो ज़रा
    बाहों में हमको पिघलने दो ज़रा
    लम्हों की गुज़ारिश है यह पास आ जाए
    हम हम तुम
    तुम हम तुम
    साँसों को साँसों में ढलने दो ज़रा

    सलवटें कहीं करवटें कहीं
    फैल जाए काजल भी तेरा
    नज़रों में हो गुज़ार था हुआ
    ख्वाबों का कोई खफीला
    जिस्मों को रूहो
    को जलमे दो ज़रा
    शर्मो खया को
    मचलने दो ज़रा
    लम्हों की गुज़ारिश है यह पास आ जाए
    हम हम तुम
    तुम हम तुम
    साँसों को साँसों में ढलने दो ज़रा

    चूलों बदन मगर इस तरह
    जैसे सुरीला साज़ हो
    हम है रे छुपे
    तेरे ज़ुल्फ़ में
    खोलो के रात आज़ाद हो
    आँचल को सीने से ढलने दो ज़रा
    शबनम की बूँदें फिसलने दो ज़रा
    लम्हों की गुज़ारिश है यह पास आ जाए
    हम हम तुम
    तुम हम तुम

    साँसों को साँसों में ढलने दो ज़रा
    बाँहों में हमको पिघलने दो ज़रा
    लम्हों की गुज़ारिश है यह पास आ जाए
    हम हम तुम
    तुम हम तुम
    हम हम तुम
    तुम हम तुम

    Writer(s): Joshi Prasoon, Pandit Jatin, Pandit Lalitraj Pratapnarayan
    Lyrics powered by www.musixmatch.com

    Artists

    1. Alka Yagnik

      Singer

    2. Babul Supriyo

      Singer

    3. Jatin-Lalit

      Music Director

    4. Prasoon Joshi

      Lyricist