Sham (From "Footpath") Lyrics - Geet And Ghazal Talat Mahmood - Only on JioSaavn
What kind of music do you
want to listen to?

For best experience listen on JioSaavn app.

Listen with no limits on the JioSaavn app.

I Have JioSaavn
  1. Sham (From "Footpath")

    Geet And Ghazal Talat Mahmood

    3:12

    {"url":"ID2ieOjCrwfgWvL5sXl4B1ImC5QfbsDywDVnYtWJz5uM7uvLyebNFgJWEeYTcx6oZnHU9OVXwJbcWKtIaWnzGBw7tS9a8Gtq","pid":"ViJcNoZJ","length":"192"}
  2. Sham (From "Footpath") Song Lyrics

    शाम ए ग़म की कसम
    आज ग़मगीन हैं हम
    आ भी जा आ भी जा
    आज मेरे सनम
    शाम ए ग़म की क़सम

    दिल परेशान है
    रात वीरान है
    देख जा किस तरह
    आज तनहा हैं हम
    शाम ए ग़म की कसम
    चैन कैसा जो पहलु में तू ही नहीं
    मार डाले न दर्द ए जुदाई कहीं
    रुत हसीं है तो क्या
    चांदनी है तो क्या
    चांदनी जुल्म है और जुदाई सितम
    शाम ऐ ग़म की कसम
    आज ग़मगीन है हम
    आ भी जा
    आज मेरे सनम

    शाम ऐ ग़म की कसम

    अब तो आ जा के अब रात भी हो गयी
    जिंदगी ग़म के सेहराओ में खो गयी
    ढूंढती है नज़र
    तू कहाँ है मगर
    देखते देखते आया आँखों में दम
    शाम ए ग़म की कसम

    Writer(s): N/A KHAIYYAAM, SARDAR JAFRI, SULTANPURI MAJROOH, KHAIYYAAM, MAJROOH SULTANPURI
    Lyrics powered by www.musixmatch.com

    Artists

    1. Talat Mahmood

      Singer

    2. Khayyam

      Music Director

    3. Majrooh Sultanpuri

      Lyricist

    4. Sardar Jafri

      Lyricist