Sare Jahan Se Achha (From "Bhai Bahen") Lyrics

On Republic Demand - Vol. 1  by Asha Bhosle

Song   ·  248,851 Plays  ·  3:06  ·  Hindi

© 2017 Saregama

Sare Jahan Se Achha (From "Bhai Bahen") Lyrics

सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्ताँ हमारा
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्ताँ हमारा
हम बुलबुले हैं इसकी, ये गुलिस्ताँ हमारा
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्ताँ हमारा

परबत हैं इसके ऊंचे, प्यारी हैं इसकी नदियाँ
परबत हैं इसके ऊंचे, प्यारी हैं इसकी नदियाँ
आगोश में इसीके गुज़री हजारों सदियाँ, गुज़री हजारों सदियाँ

हँसता है बिजली ऊपर, ये आशियाँ हमारा
हम बुलबुले हैं इसकी, ये गुलिस्ताँ हमारा
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्ताँ हमारा

वीरान कर दिया था, आंधी ने इस चमन को
वीरान कर दिया था, आंधी ने इस चमन को
दे कर लहू बचाया गाँधी ने इस चमन को, गाँधी ने इस चमन को
रक्षा करेगा इसकी, हर नौजवाँ हमारा
हम बुलबुले हैं इसकी, ये गुलिस्ताँ हमारा
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्ताँ हमारा

Writer(s): N Dutta, Raja Mehdi Ali Khan<br>Lyrics powered by www.musixmatch.com

3m 6s  ·  Hindi

© 2017 Saregama