Pal Pal Dil Ke Paas - Unwind Version

Pal Pal Dil Ke Paas - Unwind Version Lyrics

Bollywood Unwind - Romantic Classics in a Relaxing Urban Avatar  by Mohammed Irfan, Kalyanji Anandji

Song  ·  2,914,709 Plays  ·  4:08  ·  Hindi

© 2015 Strumm Entertainment

Pal Pal Dil Ke Paas - Unwind Version Lyrics

पल पल दिल के पास
तुम रहती हो
पल पल दिल के पास
तुम रहती हो
जीवन मीठी प्यास
ये कहती हो
पल पल दिल के पास

हर शाम आँखों पर
तेरा आँचल लहराए
हर रात यादों की
बारात ले आए
मैं सांस लेता हूँ
तेरी खुशबू आती है
एक महका-महका सा
पैगाम लाती है
मेरे दिल की धड़कन भी
तेरे गीत गाती है
पल पल दिल के पास

कल तुझको देखा था
मैने अपने आंगन में
जैसे कह रही थी तुम
मुझे बाँध लो बन्धन में
ये कैसा रिश्ता है
ये कैसे सपने हैं
बेगाने हो कर भी
क्यूँ लगते अपने हैं
मैं सोच मैं रहता हूँ
डर-डर के कहता हूँ
पल पल दिल के पास
तुम रहती हो
जीवन मीठी प्यास
ये कहती हो
पल पल दिल के पास
तुम रहती हो

Writer(s): Kalyanji Anandji<br>Lyrics powered by www.musixmatch.com


More from Bollywood Unwind - Romantic Classics in a Relaxing Urban Avatar

Loading

You Might Like

Loading


4m 8s  ·  Hindi

© 2015 Strumm Entertainment

FAQs for Pal Pal Dil Ke Paas - Unwind Version